Rates:Bank Rate, Repo Rate, Reverse Repo Rate, MSF, LAF


Bank Rate:

बिना collateral  के RBI, long टर्म के लिए Banks को लोन देती हैं जो कि बैंक रेट के हिसाब से दिया जाता है। 


Quantitative Tools of Monetary Policy
Bank Rate


पर बैंक रेट से inflation से कैसे लड़ें


माना बैंक रेट 3% हैं बैंक अपना margin रख के आगे 5% में लोन देती हैं जैसा कि  पिक्चर में दिखाया है। 

Quantitative Tools of Monetary Policy
Combating Inflation/deflation with Bank Rate


अब माना कि बैंक रेट 36% कर दिया तब बैंक भी अपना margin रख कर लोन के रेट (48%) बढ़ा देंगे 

>> तब डिमांड कम हो जाएगी >> inflation कम होगा। 


Quantitative Tools of Monetary Policy
Combating Inflation/deflation with Bank Rate



पर अभी RBI बैंक रेट से inflation कंट्रोल नहीं करती हैं, RBI का मुख्य हथियार Repo Rate व Reverse Repo Rate  हैं

बैंक रेट को Panel Rate  से जोड़ा गया हैं 

CRR व SLR को दो सप्ताह तक maintain करना पड़ता हैं ; अगर maintain नहीं किया तो पेनल्टी लगाती है 

Penalty  = Bank Rate +3% or 5%, depends on number of offense

Penalty with Bank Rate
Penalty with Bank Rate


LAF (Liquid Adjustment Facility)

यह एक तरह का short लोन हैं जिसमें RBI व बैंक आपस में खेलते हैं

Collateral = Govt Sec होती हैं जो एसएलआर कोटे से नहीं होनी चाहिए 


Quantitative Tools of Monetary Policy
Liquid Standing Facility

Relation between Repo and Reverse Repo
Repo = जब एक बैंक, RBI से short Term के लिए लोन लेता हैं

Reverse Repo = जब खुद RBI,  बैंक से short Term के लिए लोन लेता हैं।

Reverse = Repo -0.25 होता हैं 


Repo Rate 

Quantitative Tools of Monetary Policy
Repo Rate


जरुरत होने पर short Term के लिए बैंक govt. Sec. देकर RBI से पैसे लेते हैं, और समय बीतने के साथ रेपो रेट के साथ वापिस कर देते हैं

जैसे SBI ने 100 करोड़ लिए >> तब 7 दिन बाद SBI 106.25 करोड़ (100×6.25%) देकर अपनी Govt Sec वापिस ले लेंगे


Securities, SLR कोटे से नहीं होनी चाहिए।  रेपो रेट से सभी clients लोन ले सकते हैं। 





MSF (Marginal standing facility)


Quantitative Tools of Monetary Policy
Marginal Standing Facility

यह रेपो रेट जैसा काम करता हैं पर अन्तर हैं कि 


MSF
Difference between LAF & MSF



As on November 2017, the RBI has lowered the difference between repo rate and MSF to 0.25%. 



MSF में G-Sec का use कर सकते हैं


Reverse Repo rate

जब RBI, बैंक से शॉर्ट टर्म के लिए लोन लेती हैं 


Quantitative Tools of Monetary Policy
Reverse Repo Rate


माना कि आरबीआई RBI ने SBI से 100 करोड़ लिए; 

7 दिन के बाद RBI 106  करोड़ (100×6 %) देकर अपनी G-Sec वापिस ले लेगी

SLR कोटे की G-Sec इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं 

Repo,Reverse रेपो व MSF से inflation से कैसे लड़ें 


Quantitative Tools of Monetary Policy
Combating Inflation/Deflation With Repo Rate


माना कि पहले रेपो 8% था, बैंक ने अपना margin रख कर कार के लोन के रेट 13% रखा 


Quantitative Tools of Monetary Policy
Combating Inflation/Deflation With Repo Rate




Inflation के समय RBI रेपो बढ़ा देता हैं जिससे बैंक भी अपना profit maintain करने के लिए लोन के रेट बढ़ा देते हैं >> लोन महंगा हो जाता हैं >> लोग कम लोन लेंगे >> डिमांड कम हो जाएगी >> कार के रेट भी कम हो जायेंगे >> महँगाई कम होगी 

No comments