FII flows to Indian markets may slow as Fed hikes rates

  • Foreign investors, who have pulled out nearly $240 million from Indian stocks since the beginning of the year, may continue selling after interest rate increase in the US
  • विदेशी निवेशकों, जिन्होंने साल की शुरुआत के बाद से भारतीय शेयरों से करीब 240 मिलियन डॉलर निकाले हैं, अमेरिका में ब्याज दरों में वृद्धि के बाद बिक्री जारी रख सकते हैं
  • FIIs (foreign institutional investors) have been net sellers in this year
  • एफआईआई (विदेशी संस्थागत निवेशक) इस वर्ष में शुद्ध बेकने वाले   हैं
  • The quarter percentage point increase is the second hike this year and the seventh since it started increasing lending rates in 2015 
  •  यह तिमाही  प्रतिशत बिंदु वृद्धि इस वर्ष दूसरी वृद्धि है और 2015 से सातवीं जब से उधार दरों में वृद्धि शुरू हुई थी
  •   The US Federal Reserve’s rate-setting panel also signaled two more rate hikes this year
  •  यूएस फेडरल रिजर्व के रेट-सेटिंग पैनल ने इस साल दो बार और दरों में वृद्धि का संकेत दिया
  • Higher interest rates tempt large foreign funds to move their money to the US
  • अमेरिका की ओर पैसों का स्थानांतरण करने के लिए उच्च ब्याज दरें की जाती है
  • Rising interest rates suggest a pickup in consumption and demand. It is a sign that US economy is getting stronger
  • बढ़ती ब्याज दरें बताती है उपभोग और मांग बढ़ रही है, और यह एक संकेत है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था मजबूत हो रही है
  • The currency may also depreciate further if US Fed goes ahead and hike rates further
  • यदि अमेरिकी फेड आगे बढ़ता है और दरों में वृद्धि जारी करता है तो मुद्रा का मूल्य भी कम हो सकता है
  • A few investors who have invested in the Indian markets over the last 3-5 years or even more might have chosen to book profit at this juncture, anticipating higher volatility in the Indian markets the closer it is to general elections
  • इस कारण से , पिछले 3-5 सालों में या उससे भी ज्यादा भारतीय बाजारों में निवेश करने वाले कुछ निवेशक, इस मौके पर अपने पैसे बाजार से निकल कर लाभ लेते है, और जो ये सोचते है कि भारतीय बाजारों में उच्च अस्थिरता की उम्मीद है क्योंकि आम चुनाव करीब है

No comments